Wednesday, March 27, 2013

" होली के बहाने अश्लीलता मत परोसो यारो " !!

   मित्रो नमस्कार !! मैं आज बहुत शर्मिंदा  हूँ आपसे ये शेयर करते हुए कि फेसबुक के कुछ मित्र होली के नाम पे कैसे - कैसे चित्र-चुटकुले और अनर्गल बातें टैग कर रहे थे कि मुझे उन्हें मित्र सूची से बाहर करना पड़ा !! आजकल के युवा कुछ सीखने के बजाये सेक्स से ही हर बात और विषय को तोलते हैं …। जैसे एक ने ये चित्र लगा कर मनमोहन सरकार से पूछा कि इनके लिए कौन सा क़ानून लागू होगा ???
और साथ में लिख दिया बुरा ना मानो होली है !!
मैंने तो उनको अन्फ्रेंड कर दिया !! आपकी क्या राय है ??
             कौन दोषी है इस घटना हेतु ??? क्या मुझे आप सबको नहीं बताना चाहिए था ???
             बड़े बेमन से शर्मिंदा होकर आप को ये बता  पा रहा हूँ !! घटना की गंभीरता को समझते हुए मुझे माफ़ करेंगे आप !! ऐसा मेरा मानना है !! खासकर महिला मित्रों से माफ़ी मांगता हूँ !! सबकी राय जानना अति-आवश्यक था !! 
 क्या हम स्वस्थ मनोरंजन नहीं कर सकते जैसे कि ये………।
                   

 राहुल गाँधी इंग्लंड
की यात्रा पर
गया और
वहा रानी एलिज़ाबेथ
को मिला ..
और कहा की मुझे भी भारत
को सुपर पावर
बनाना है
में क्या करू ?

रानी : सबसे पहले तो आपके
आसपास के लोग
इंटेलिजेंट होने चाहिए ..
राहुल : पर वो कैसे
पता चले की मेरे आसपास
वाले इंटेलिजेंट है ?
रानी : देखो आपको एक
उदाहरण
दिखाती हु
और उन्होंने बेल बजाकर '
डेविड केमरून' को
अपनी केबिन में बुलाया
और पूछा
डेविड ये बताओ की आपके
माता-
पिता की एक ही संतान है
और
वो आपका भाई या बहन
नहीं
बताओ वो कौन है ?
डेविड केमरून :
रानी साहिबा वो इंसान
मैं
खुद हु ....
रानी : बहुत खूब , आप
जा सकते हो डेविड
केमरून

अब राहुल बाबा भारत
आये और सोचा में
भी रानी की तरह मन्नू
को चेक करता हु
राहुल ने केबिन से बेल
बजाई और मन्नू
जी को बुलावा भेजा
मन्नू जी केबिन में आये

राहुल : मन्नू जी ये बताओ
की आपके माता-
पिता की एक ही संतान है
और वो आपके
भाई या बहेन नहीं ....
बताओ वो कौन है ?

मन्नू भाई कन्फ्यूज हो गए ...
कहा राहुल बाबा मुझे
सोचने
का थोडा वक्त दे ..
मन्नू भाई सीधे आये
नरेन्द्र मोदी जी के
पास और कहा
नरेन्द्र भाई आप अपने
आपको भारत
का सबसे काबिल
मुख्यमंत्री मानते
हो तो मेरे सवाल
का जवाब दो ...
नरेन्द्र भाई : पूछो मन्नू
जी
मन्नू जी : ये बताओ
की आपके माता-
पिता की एक ही संतान है
और वो आपके
भाई या बहेन नहीं ....
बताओ वो कौन है ?
नरेन्द्र भाई :अरे
पाजी ........ मैं खुद हु

मन्नू : धन्यवाद नरेन्द्र
भाई
मन्नू जी सीधे पोहचे १०
जनपथ और राहुल
जी से कहा " मुझे जवाब
मिल गया है !"
राहुल : बताओ फिर !
मन्नू : जवाब है ' नरेन्द्र
मोदी '

राहुल गुस्से में : इसी लिए
अपना देश
तरक्की नहीं कर रहा ....
सही जवाब में बताता हु
सही जवाब है ' डेविड
केमरून " :-P :-D
क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Sunday, March 24, 2013

" होली के रंग दिल में उतरने लगे हैं… मस्ती छाने सी लगी है "……!!!!

     प्रिय सखियों और सखाओं , हाथ जोड़कर-आँख मारकर नमस्कार !! 
                              मेरे एक मित्र हैं , वो जब भी आते हैं तो जिससे हाथ मिलाते हैं उसकी तरफ ना देखकर दुसरे की तरफ आँख मारकर हँसते हुए कहते हैं कि भई ये बड़े आदमी हैं , इनसे तो पहले हाथ मिलाना ही पडेगा !!! उसे मजबूरन उनकी हां में हाँ मिलानी पड़ती थी !! कल वोही मित्र मेरे घर आ धमके ! मैंने जैसे ही दरवाज़ा खोला,मेरी और आँख मारते हुए मेरी पत्नी को नमस्कार करते हुए बोले, भाई !! होली आ रही है पहले भाभी जी को तो नमस्कार करलें अन्यथा होली के दिन गरमागरम पकोड़े और मीठी-मीठी चाय नहीं मिलेगी !! मैं बोला भागवान इस खाऊ यार को आज कुछ खाने को मत देना !! होली वाले दिन ही इसका पकोड़ों से पेट भरना !! मेरी पत्नी बोली नहीं जी मैं तो अपने भाई साहिब को आज भी चाय पिलाऊंगी !! मैंने कहा चीनी कम डालना नहीं तो ये मीठा हो जाएगा तो हमारी भाभी जी को कंही शूगर ना हो जाए …। मैंने भी आँख मारदी अपने मित्र की ओर देखकर , और सब हंस पड़े !!!!!!!
                         चाय शाय के बाद मैंने पूछा कहिये मित्र कैसे आना हुआ तो वो फिर आँख मार कर बोले , होली का क्या प्रोग्राम है ?? मैंने इधर-उधर देखते हुए पहले ये पक्का किया की अबकी बार इन्होने आँख मुझे देखकर ही मारी है या…। सन्तुष्ट होने के बाद प्रोग्राम काहेका ?? घर पर ही रहेंगे यार !! देश -प्रांत  - जिला - नगर और मोहल्ले में ऐसा कोई घटनाक्रम नहीं घटा , जिससे हमें प्रसन्नता हो , और                                                                                  तो और तुम्हारी बहन और हमारी पत्नी भी अब हमें कभी खुश नहीं करती !! बस ….खाना-पूर्ती ही करती है !! बस जी ,मेरा इतना कहना था कि नाजाने कंहा से हमारी होम-मिनिस्टर फुंफकारते हुए आ धमकी और हमें धकियाते हुए बोली 4-4 बच्चों के बाप हो, सारा दिन काम करती रहती हूँ , अभी भी खुश नहीं हो तो जाओ कोई दूसरी ले आओ !! मुझे पता है आजकल फेसबुक पर बड़ी सहेलियां बना रख्खीं हैं !! सारा दिन चेटिंग करते रहते हो और मेरे साथ चीटिंग करते हो तुमने मुझे कौन सी ख़ुशी दी है ???

                         इतनी देर में मेरे पिता जी ने आवाज़ दी , बोले सब इधर आओ !! हम सबको जैसे सांप सूंघ गया हो !! हम सब डरते हुए बाहर पंहुचे कि आज डांट पड़ेगी कंही पिताजी ने सब सुन तो नहीं लिया……। पिताजी रौब से बोले सब नीचे चौकड़ी मार कर बैठ जाओ…और हम बैठ गए !! पिताजी फिर गरजे … अपनी आँखें बंद करो…!! हमने फ़ौरन अपनी आँखें मूँद लीं !! तभी ठन्डे पानी की बोछार हमारे सर पर गिरी और पिताजी जोरसे हँसते हुए बोले ….होली है !!!!!!!!!!!!!!!!!!!
                          फिर बोले , इन्सान बड़ी ख़ुशी के इंतज़ार में छोटी खुशियाँ मनाना भूलता जा रहा है !! इसीलिए बीमार होता जा रहा है !! झूमकर छोटी ख़ुशी को भी जो बड़ा बनाये वो ही सच्चा इन्सान है !! जाओ नाचो-गाओ और कल धूम-धाम से सब होली मनाओ !! सदा खुश रहो…।HAPPY HOLIY ............ !!
जो तेरा है - वो मेरा…और जो मेरा है वो तेरा….!!
क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511
                                     

Friday, March 22, 2013

" क्या इटली सोनिया जी की धमकी से डर गया "…???

WEL-COME IN " INDIA " !! 
                   इटालियन सैनिकों की वापसी पर खुशियाँ मत मनाइए .... भारत सरकार ने इटली के आगे झुकते हुए इटली की सारे नाजायज मांगे स्वीकार की तब जाकर इटली ने अपने सैनिको को भारत भेजा.... 

इटैलियन नौसैनिकों की वापसी को लेकर लग रहा था कि भारत की आक्रामक कूटनीति के सामने इटली झुक गया है, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। कई शर्तें मनवाने के बाद इटली ने अपने दोनों नौसैनिकों को भारत रवाना किया है। विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने शुक्रवार को खुद लोकसभा को बताया कि नौसैनिकों को वापस भारत लाने के लिए सरकार ने क्या- क्या वादे किए हैं।
विदेश मंत्रलाय के सचिव स्तर को तीन अधिकारी गुपचुप रूप से इटली गए थे और इटली सरकार की हर मांगो को भारत सरकार को भेजा,

फिर प्रधानमंत्री आवास पर एक आपात बैठक में इन मांगो पर केबिनेट में चर्चा हुई जिसे कैबिनेट ने स्वीकार कर लिया ..

भारत सरकार ने इन मांगो को स्वीकार किया है --

१- सैनिको को फांसी की सजा नही होगी..

२-पांच साल से ज्यादा जेल की सजा नही होगी..

३-सुनवाई के दौरान सैनिक जेल में नही बल्कि इटली के दूतावास में रहेंगे..

४- अगर इन्हें जेल की सजा होती है तो ये सजा जेल में नही बल्कि गेस्टहाउस में काटेंगे..

५- सैनिको को हर तरह की सुखसुविधा जैसी एसी, फ्रिज, टीवी, मोबाइल फोन आदि मिलेंगी..

६- इटली के कानून के मुताबिक कैदियों को भी अपनी पत्नियों से सेक्स सम्बन्ध बनाने का अधिकार है इसलिए इनकी पत्नियों को भी इनके साथ सेक्स सम्बन्ध बनाने का अधिकार रहेगा..

अब बताइए मित्रों, कौन किसके आगे झुका ? इटली भारत के आगे या भारत इटली के आगे ?

वैसे इटालियन बार- बाला सोनिया अपने मायके वालों पर इतना जल्दी फंदा कस जाने दे ये तो पहले से ही संदेह के घेरे में था, पर अब और पुख्ता हो गया कि किन शर्तों पर सोनिया डायन ने इनको भारत वापस बुलाया है, ताकि नाक भी बची रहे और जनता के बीच नम्बर भी लग जाएँ..

अधिक से अधिक शेयर करें..

जय हिन्द..
 
इटालियन सैनिकों की वापसी पर खुशियाँ मत मनाइए .... भारत सरकार ने इटली के आगे झुकते हुए इटली की सारे नाजायज मांगे स्वीकार की तब जाकर इटली ने अपने सैनिको को भारत भेजा.... 

इटैलियन नौसैनिकों की वापसी को लेकर लग रहा था कि भारत की आक्रामक कूटनीति के सामने इटली झुक गया है, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। कई शर्तें मनवाने के बाद इटली ने अपने दोनों नौसैनिकों को भारत रवाना किया है। विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने शुक्रवार को खुद लोकसभा को बताया कि नौसैनिकों को वापस भारत लाने के लिए सरकार ने क्या- क्या वादे किए हैं।
विदेश मंत्रलाय के सचिव स्तर को तीन अधिकारी गुपचुप रूप से इटली गए थे और इटली सरकार की हर मांगो को भारत सरकार को भेजा, 

फिर प्रधानमंत्री आवास पर एक आपात बैठक में इन मांगो पर केबिनेट में चर्चा हुई जिसे कैबिनेट ने स्वीकार कर लिया ..

भारत सरकार ने इन मांगो को स्वीकार किया है --

१- सैनिको को फांसी की सजा नही होगी..

२-पांच साल से ज्यादा जेल की सजा नही होगी..

३-सुनवाई के दौरान सैनिक जेल में नही बल्कि इटली के दूतावास में रहेंगे..

४- अगर इन्हें जेल की सजा होती है तो ये सजा जेल में नही बल्कि गेस्टहाउस में काटेंगे..

५- सैनिको को हर तरह की सुखसुविधा जैसी एसी, फ्रिज, टीवी, मोबाइल फोन आदि मिलेंगी..

६- इटली के कानून के मुताबिक कैदियों को भी अपनी पत्नियों से सेक्स सम्बन्ध बनाने का अधिकार है इसलिए इनकी पत्नियों को भी इनके साथ सेक्स सम्बन्ध बनाने का अधिकार रहेगा.. 

अब बताइए मित्रों, कौन किसके आगे झुका ? इटली भारत के आगे या भारत इटली के आगे ?

वैसे इटालियन बार- बाला सोनिया अपने मायके वालों पर इतना जल्दी फंदा कस जाने दे ये तो पहले से ही संदेह के घेरे में था, पर अब और पुख्ता हो गया कि किन शर्तों पर सोनिया डायन ने इनको भारत वापस बुलाया है, ताकि नाक भी बची रहे और जनता के बीच नम्बर भी लग जाएँ.. 

अधिक से अधिक शेयर करें.. 

जय हिन्द..




















क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511


Tuesday, March 19, 2013

" सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र का अगला विधायक कौन " ???????

          सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र के सभी मतदाताओं को मेरा हार्दिक नमस्कार !!                            मित्रो, जैसा कि आप जानते हैं आगामी नवम्बर माह तक राजस्थान विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं !! हो सकता है कि संसद के चुनाव भी साथ ही हो जाएँ , क्योंकि करूणानिधि जी की " करुण-कथा " अपने मनमोहन जी ने " मन " से नहीं सुनी !!! इसलिए उन्होंने अपना समर्थन सरकार से वापिस ले लिया है !! अब मुलायम जी कब तक " मुलायम " बने रहते हैं या अपनी बहनजी कब अपनी " माया " बिखेर दें , कोई भरोसा नहीं !! इसलिए आज हम सिर्फ राजस्थान विधानसभा के सूरतगढ़ क्षेत्र की बात करेंगे !! क्योंकि ये हमारा " गृहक्षेत्र " है !
                      " 5th pillar corruption killer " इंटरनेट- सोशियल मीडिया ब्लॉग-प्रेस की तरफ से सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में जो " योग्य एवं लोकप्रिय विधायक चुनाव हेतु सर्वे और मतदाता जगुरुकता अभियान चलाया जा रहा है,उसकी टीम के सदस्य इस अभियान के शुभारम्भ 17 फ़रवरी 2013 से आज तक विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर नागरिकों को पत्रक बाँट चुकी है !! जिसमे सर्वे के 6 प्रश्न पूछे गए हैं और साथ ही उस पत्रक में ये भी बताया गया है कि कैसे सभी राजनितिक दल मतदान के समय पर मतदाताओं को अपने जाल में फंसा लेते हैं !! वहाँ इस टीम के संयोजक पीताम्बर दत्त शर्मा ने इस अभियान की पूरी जानकारी ग्रामीणों को दी ! उन्होंने कहा कि सरकार और राजनितिक दल  सर्वे कराते तो हैं किन्तु " गुप्त " तरीके से , वो जनता की पसंद का नहीं केवल अपनी पसंद का नेता तलाशते हैं !!
                               विद्यालयों में जाकर  विद्यार्थियों और शिक्षकों को भी इस अभियान के बारे में सम्पूरण जानकारी दी !! इस अभियान की आवश्यकता क्यों पड़ी ,तथा इसके क्या उद्देश्य हैं इस बारे में भी विस्तार से समझाया !! इस टीम के सदस्य कई विद्यालयों कोलेजों और गावों में भी गए और संबोधित कर उन्हें सोच समझ कर उपयुक्त व्यक्ति को ही अपना मत देने हेतु कहा !! अपना मत अवश्य डाल कर आयें , ये भी बताया गया !! नगर के प्रबुधजन और विद्यालय प्रबंधक इस पुण्य - कार्य में तन-मन-धन से अपना सहयोग दे रहे हैं !!
                                 इस अवसर पर श्री अरविन्द कौल, श्री राजिंदर पटावरी, श्री विजय स्वामी,श्री तुलसीराम शर्मा,श्री परसराम भाटिया,डा हरप्रीत सिंह,श्री पी   के मिश्रा और श्री  के. के.खासपुरिया,एडवोकेट विष्णु शर्मा व भागीरथ कडवासरा जी भी पीताम्बर दत्त शर्मा के साथ थे !! " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " की पूरी टीम , इस अभियान को पहले नगर के हर वार्ड , फिर हर गाँव और फिर सूरतगढ़ विधानसभा के हर कसबे में चलाया, फैलाया और समझाया जायेगा , ताकि इस बार सूरतगढ़ की जनता को जो विधायक मिले वो लोकप्रिय व योग्य हो !! यही इस टीम की इच्छा   है  !!       
                               आप   सब मित्रों  से भी अनुरोध है कि आप के घर में जितने वोट हैं उन सबके पत्रक भरवाएं और आसान से 6 प्रश्नों के उत्तर देकर आकर्षक 165 ईनाम लक्की-ड्रा द्वारा जितने के उतने ही अवसर पायें !! हैं ना आम के आम गुठलियों के दाम !!!!!!
                                         क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Saturday, March 16, 2013

" इंडियन पत्रकार, हो गए हैं…पवित्र - पापी "……??

सरकारी अफसर की डायरी का पन्ना : ये है महीना पाने वाले पत्रकारों की लिस्ट



छत्तीसगढ़ में एक कोरिया जिला है. वहां के एक सरकारी अफसर की डायरी का एक पन्ना मनीष सोनी नामक एक नौजवान, जो कि खुद पत्रकार भी है, ने चोरी से फाड़ लिया और उसे भड़ास पर डाल दिया है. उस डायरी के पन्ने को यहां आपके सामने पेश किया जा रहा है, जो नीचे है.

सरकारी अफसर के डायरी का पन्ना और मनीष सोनी लिखित अपनी भड़ास इस प्रकार है...
...कोरिया जिले के कुछ कथित चोट्टे किस्म के "खर पतवारों" की ये वो लिस्ट है जिसे जिले के एक सरकारी विभाग के डाइरेक्टर ने अपने याददाश्त के लिए (कि उन्होंने 500 रुपये और 1000 हजार रुपये किसे-किसे दिया) अपनी निजी डायरी में लिख रखा था. गलती से डायरी को मैंने चुरा लिया. चोरी इसलिए की ताकि रायपुर में बैठे तमाम समाचार चैनलों के स्टेट हेड और कुछ ऐसे भी स्टेट स्टोपर जिन्होंने अपनी पॉलिसी के तहत चैनल की ''आईडी' 'बेची है, अब उन्हें भी पता चले की उनके शागिर्द आईडी खरीद कर क्या कर रहे हैं. प्रदेश की राजधानी में बैठे ब्यूरो से मेरा आग्रह है कि यहाँ के भोले भाले ग्रामीणों को पत्रकार बनाने के नाम पे झांसा देकर उन्हें इस तरह से भीख मांगने को मजबूर न करें. या उन्हें इतनी ट्रेनिग दें कि कम से कम मांगने के बाद मिलने वाली रकम इनके जमीर को जिन्दा रखने में मददगार हो. डायरी के पन्ने में लाल घेरा इलेक्ट्रानिक मीडिया के लिए है और पीले घेरे में कैद हैं यहां के बड़े-बड़े अखबार के जिला प्रतिनिधि.
 — !!!!
                                     
                                       क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com. " 5th pillar corruption killer " ब्लॉग सबका है …. !!!
प्रिय ब्लोगर मित्रो,सादर नमस्कार !! 

सोशियल मिडिया में लेखन कार्य करने वाले सभी मित्रों से प्रार्थना है कि वो कभी भी हमारे लेखों को अपने ब्लॉग पर शेयर कर सकते हैं और अपना लेख हमारे ब्लॉग पर प्रकाशित भी कर सकते हैं !! इसे चोरी नहीं कहा जाना चाहिए और नाही इसे चोरी मानना चाहिए !! क्योंकि हम लोग समाज की भलाई हेतु ही तो लिखते हैं !! अगर कोई आपके लेख को कोपी कर पेस्ट करता है आपके ही नाम सहित तो वो चोरी नहीं होती लेकिन अगर कोई आपके लेख को आगे पीछे करके अपने नाम से कंही लिखता है तो वो चोरी होती है !!
हम तो पहले भी सबको निमंत्रण दे चुके हैं और आज भी सबको निमंत्रण दे रहे हैं कि आइये हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है जितनी चाहें अपनी रचनाएँ प्रकाशित करवाएं……बिलकुल मुफ्त लेकिन शर्त सिर्फ ये है कि विषय समाज की भलायी वाला हो बस !!!!! क्योंकि…….
" जो तेरा है - वो मेरा…और जो मेरा है वो तेरा….!!

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Friday, March 15, 2013

" सरकारी आशीर्वाद - खूब सेक्स करो बच्चा "...!!!

सेक्स प्रेमी सभी मित्रों को मेरा सादर नमस्कार !!!
         करिश्मा कपूर जी ने एक गीत पर अभिनय किया था , जिसके बोल थे… सेक्सी-सेक्सी-सेक्सी मुझे लोग बोलें …. फिर एक और उनका गीत आया….सरकायिलो खटिया जाड़ा लगे…!! माधुरी जी ने कहा कि…. चोली के पीछे क्या है ?? अपने अमिताभ बच्चन जी कंहा पीछे रहने वाले थे वो भी बोले…जुम्मा-चुम्मा दे दे…… !! आदि आदि द्विअर्थी गीतों संवादों को हमने पहले भददा कहा फिर उन्हें सुना भी और गाया भी !! ये कोई ज्यादा पुराणी बातें नहीं हैं !!
                       आजकल तो पोर्न फ़िल्में हर घर दुकान और कैफे में धड़ल्ले से देखी जाती हैं क्या छोटे और क्या बड़े सब मस्त हुए जा रहे हैं !! सब अंग्रेज़ बन चुके हैं !! भारत में भी अब नारी को वासना की " वस्तु " माना जाने लगा है !! पत्रकारों ने सर्वे प्रकाशित कर दिए हैं कि स्कूलों के बच्चे सेक्स में निपुण हो गए हैं पढाई का उन्हें पता नहीं !! इसलिए हमारी सरकार ने भी युवाओं के वोट लेने हेतु ये नया क़ानून बनाने की तैयारी करली है !! कंग्रेस्सी मित्रों और उनके समर्थक राजनितिक दलों को भली-भाँती ज्ञात है कि भाजपा और उनके समर्थक इस कानून का विरोध करेंगे तो युवा वोट यू.पी.ए. के पक्के हो जायेंगे !!
                        देश जाये भाड़  में हमें क्या….???
 अभी  तो संसद में नेता अपना ज्ञान बघारेंगे…. ।

  देखते जाइए, कैसे हमारा भारत,नहीं-नहीं,हमारा इंडिया 21वीं सदी में प्रवेश करता है !!!!?
                           " सरकारी आशीर्वाद - खूब सेक्स करो बच्चा "...!!! कंग्रेस्सी नेताओं …की तरह ऐश करो…. खूब गाओ……
                        " जो तेरा है - वो मेरा…और जो मेरा है वो तेरा….!!
क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com. " 5th pillar corruption killer " ब्लॉग सबका है …. !!!
प्रिय ब्लोगर मित्रो,सादर नमस्कार !! 

सोशियल मिडिया में लेखन कार्य करने वाले सभी मित्रों से प्रार्थना है कि वो कभी भी हमारे लेखों को अपने ब्लॉग पर शेयर कर सकते हैं और अपना लेख हमारे ब्लॉग पर प्रकाशित भी कर सकते हैं !! इसे चोरी नहीं कहा जाना चाहिए और नाही इसे चोरी मानना चाहिए !! क्योंकि हम लोग समाज की भलाई हेतु ही तो लिखते हैं !! अगर कोई आपके लेख को कोपी कर पेस्ट करता है आपके ही नाम सहित तो वो चोरी नहीं होती लेकिन अगर कोई आपके लेख को आगे पीछे करके अपने नाम से कंही लिखता है तो वो चोरी होती है !!
हम तो पहले भी सबको निमंत्रण दे चुके हैं और आज भी सबको निमंत्रण दे रहे हैं कि आइये हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है जितनी चाहें अपनी रचनाएँ प्रकाशित करवाएं……बिलकुल मुफ्त लेकिन शर्त सिर्फ ये है कि विषय समाज की भलायी वाला हो बस !!!!! क्योंकि…….
" जो तेरा है - वो मेरा…और जो मेरा है वो तेरा….!!


आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Thursday, March 14, 2013

" 5th pillar corruption killer " ब्लॉग सबका है …. !!!

 प्रिय  ब्लोगर मित्रो,सादर नमस्कार !! 
                       सोशियल मिडिया में लेखन कार्य करने वाले सभी मित्रों से प्रार्थना है कि वो कभी भी हमारे लेखों को अपने ब्लॉग पर शेयर कर सकते हैं और अपना लेख हमारे ब्लॉग पर प्रकाशित भी कर सकते हैं !! इसे चोरी नहीं कहा जाना चाहिए और नाही इसे चोरी मानना चाहिए !! क्योंकि हम लोग समाज की भलाई हेतु ही तो लिखते हैं !! अगर कोई आपके लेख को कोपी कर पेस्ट करता है आपके ही नाम सहित तो वो चोरी नहीं होती लेकिन अगर कोई आपके लेख को आगे पीछे करके अपने नाम से कंही लिखता है तो वो चोरी होती है !! 
                         हम तो पहले भी सबको निमंत्रण दे चुके हैं और आज भी सबको निमंत्रण दे रहे हैं कि आइये हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है जितनी चाहें अपनी रचनाएँ प्रकाशित करवाएं……बिलकुल मुफ्त लेकिन शर्त सिर्फ ये है कि विषय समाज की भलायी वाला हो बस !!!!! क्योंकि…….
 " जो  तेरा है - वो मेरा…और जो मेरा है वो तेरा….!!
                    क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Monday, March 11, 2013

" क्या देश की निगह-बान आँखें , मुंद रही हैं " ...???

 प्यारे मित्रो , सादर नमस्कार !!
      " उस मुल्क की सरहद को कोई छू नहीं सकता , जिस मुल्क की सरहद की निगहबान हैं आँखें " !!
                     कितना सही कहा  था किसी शायर ने  !! हमारी सुरक्षा एजेंसियाँ , देश के अन्दर और बाहर नित असफल तो हो ही रहीं थीं !! लेकिन हमारी सरकारें भी फेल हो रहीं हैं !! जिनके कई कारण हैं !! जैसे वोट-बैंक , नेताओं का येन-केन-प्रकरेण सत्ता में बने रहने की कवायद और कार्यपालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार होना तथा बाकी लोकतंत्र के स्तंभों का उसमे भागीदार होना देश के लिए घातक सिद्ध हो रहा है !!
                 देश मरणासन पर पंहुच चुका है !! आवश्यकता है निस्वार्थ भाव से काम करनेऔर भ्रष्टाचार से लड़ने वाले बहादुर देशभक्तों की …!!
  कोई  है.........?????
 आओ     ……………… करें नवनिर्माण……. !!
 बनायें  इण्डिया को फिरसे हमारा भारत जो सोने की चिड़िया था ………!!!
                          क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Friday, March 8, 2013

- क्या ये सच है कि सुग्रीव की राज्य हड़पने की साजिश के मास्टर माइंड आप है? ??????



भगवान राम जब अयोध्या लौट कर आये थे,
यदि उस समय
हमारी मिडिया रही होती तो प्रेस
कांफ्रेंस में कैसे कैसे सवाल करती.....

-आपके टीम के श्री हनुमान को लंका सन्देश
देने भेजा था पर उन्होंने वहाँ आग
लगा दी.... क्या आपकी टीम में अंदरूनी तौर
पर वैचारिक मतभेद है?

- क्या हनुमान के ऊपर अशोक
वाटिका उजाड़ने के आरोप में वन विभाग
द्वारा मुकदमा नहीं चलाया जाना चाहिए?

- आपके सहयोगी श्री सुग्रीव पर अपने भाई
का राज्य हड़पने का आरोप है|....क्या आपने
इसकी जांच करवाई?

- क्या ये सच है कि सुग्रीव की राज्य हड़पने
की साजिश के मास्टर माइंड आप है?

- आप चौदह साल तक वनवास में रहे...
आपको अपने खर्चे चलाने के लिए फंड कहाँ से
मिले?

- क्या आपने उस फंड का ऑडिट करवाया है?

- आपने सिर्फ रावण पर हमला क्यों किया,
जबकि राक्षस और भी थे? क्या ये
लंका की डेमोक्रेसी को अस्थिर करने
की साजिश थी?

- क्या ये सच नहीं है कि रावण को परेशान
करने के मकसद से आपने उनके परिवार के
निर्दोष लोगो जैसे कुम्भकरण पर
हमला किया?

- क्या आपकी टीम के हनुमान
द्वारा संजीवनी बूटी की जगह पूरा पहाड
उखाड़ लेना सरकारी जमीन के साथ छेड़छाड़
नहीं?

- क्या ये सच नहीं कि आपने हमले से पहले
समुद्र पर पुल बनाने का ठेका अपने
करीबी नल और नील को नहीं दिया?

- आपने पुल बनाने के लिए
छोटी छोटी गिलहरियों से काम
करवाया..... क्या इसके लिए आप पर बाल
श्रम कानून के तहत
मुकदमा नहीं चलाया जाना चाहिए?

- आपने बिना किसी पद पर रहते हुए युद्ध के
समय इन्द्र से सहायता प्राप्त की और
उनका रथ लेकर रावण पर हमला किया..
क्या आप इन्द्र की टीम ए है?

- इस सहायता के बदले में क्या आपने इन्द्र
को ये
वादा नहीं किया कि अयोध्या का राजा बनने
के बाद आप उन्हें अयोध्या के आस पास
की जमीन दे देंगे?

- आप युद्ध में अयोध्या से रथ न मंगवा कर
इन्द्र से रथ लिया.... क्या ये इन्द्र
की कंपनी को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से
किया गया?
  क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Thursday, March 7, 2013

" काश्मीरी पण्डितों का क्यों आवश्यक है पुनर्वास काश्मीर में " …।????

 " भारत के सभी ब्राह्मणों को मेरा हार्दिक प्रणाम "!! क्या हम  अपने भाइयों को अपने पास नहीं ठहरा सकते भारत वासियों ???
  " काश्मीरी पण्डितों का क्यों आवश्यक है पुनर्वास काश्मीर में " …।????
                                    सरकार ने माना कि कश्मीर में कश्मीरी पंडितों को एक धमकीभरा पत्र मिला है जिसमें उन्हें एक सप्ताह के अंदर घाटी से चले जाने के लिए कहा गया है।

गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने हालांकि कहा कि इस बात के कोई सबूत नहीं हैं कि पत्र उग्रवादी संगठनों की ओर से भेजा गया है।

सिंह ने बताया, जम्मू-कश्मीर सरकार से मिली सूचना के अनुसार, बडगाम के पंडित कॉलोनी शेखपोरा में डाक से धमकीभरा एक पत्र मिला है, जिसमें कश्मीरी पंडितों को एक सप्ताह के अंदर घाटी से चले जाने को कहा गया है। डाक में इस बात का कोई सबूत नहीं है कि यह पत्र उग्रवादी संगठनों की ओर से भेजा गया है। 

उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। घाटी में और प्रवासियों की कॉलोनियों के आसपास सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था की गई है, ताकि कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके। उन्होंने बताया कि घाटी में करीब 4000 कश्मीरी पंडित हैं।

दो दशक पहले आतंकवाद के चलते घाटी से 350,000 से अधिक कश्मीरी पंडित पलायन कर गए थे। 90 के दशक में कट्टरपंथी गुटों ने उन्हें सुनियोजित योजना के तहत अपने की जमीन से बाहर खदेड़ दिया था। घाटी से पलायन करने वाले कश्मीरी पंडित जम्मू और देश के अन्य इलाकों में विभिन्न शिविरों में रहते हैं।

दुर्भाग्यवश कश्मीरी पंडितों पर जब अत्याचार हो रहे थे तब सारे मानवाधिकार संघटन चुप्पी साधे बैठे रहे। मीडिया ने भी उनके साथ हो रही नाइंसाफ़ी की तरफ़ आंख मूंद ली।

पनून कश्मीर जैसे संगठन कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास लिये अलग गृहस्थान (मातृभूमि) की मांग कर रहे है।

                    GOOD LUCK AND GOOD WISHES !! प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Wednesday, March 6, 2013

cut - CUT ........शार्ट कट..............!!



शार्ट कट से भी शार्टकट, प्रारंभ से आदमी तलाश करता रहा है ,चलने में -बोलने में, लिखने में , और जिन खोजा तिन्ह पाइया ,उन्हे रास्ता मिला भी । जब आर से काम चलता है तो ए आर इ क्या मतलब। जब यू से काम चल सकता है तो वाय ओ यू का क्या मतलब । और इसी तरह पिताजी पापा होते हुये डैडी से डैड हो गये । शार्टकट रास्ते में कोई टेडा मेडा रास्ता नहीं देखता और शार्टकट भाषा में कोई शुध्दता अशुध्दता नहीं देखता। और वैसे भी शुध्द अंग्रेजी कोई बोल नहीं सकता और शुध्द हिन्दी कोई समझ नहीं सकता तो रोमन ही सही ।

अभी शासकीय कार्यालयों में शार्टकट का प्रयोग शुरु नहीं हुआ है। इ मेल से भी डाक नहीं भेजी जाती फैक्स से भेज कर फिर कन्फर्मेशन कापी डाक से भेजी जाती है, वाकायदा ड्राफट तैयार होता है वह एप्रूव होता है, उंची कुर्सी वाला नीची कुर्सी वाले का ड्राफट एप्रूव करता है, वैसा का वैसा ही एप्रूव कर दिया तो मतलब ही नहीं, कुछ न कुछ गलती तो निकालना आवश्यक है ही। अच्छा एक मजेदार बात शासकीय शब्द कुल 100-150 है उन्ही से हजारों पत्र, परिपत्र, अर्धशासकीय पत्र, तैयार होते रहते है । एक भी विजातीय शब्द इसमें आजाये तो बात अखरनेवाली हो जाती है। ब्लाग पढता रहता हूं तो कुछ शब्द सामर्थ्य बढ गया है,मैने एक दिन एक शब्द का पर्याय बाची शब्द लिख दिया तो मेरी पेशी हो गई देखिये मिस्टर यह कार्यालय है कोई साहित्यिक संगठन या सभा नहीं है, शब्द वही प्रयोग करो जो शासकीय हो। और पता भी चलना चाहिये कि पत्र सरकारी है। अच्छा देखिये मुझे व् और ब का फर्क आज भी समझ नहीं आता लेकिन हजारों ड्राफ्ट ,एप्रूव किये

भैया हम तो गांव के है वही बोली वही लहजा , यध्यपि बच्चों को पसंद नहीं है । मेरी खडी बोली इन्हें रास नहीं आती । हालांकि कुछ कहते नहीं मगर समझ में आही जाता है, इशारों को अगर समझो । और तो और ये भी बच्चों से कहती ही है बेटा तेरे पापा तो शुरु से ही गवांरों जैसा बोलते है भले आदमियों के बीच बिठादो तो नाक कट जाती है। वाह एक न शुद दो शुद .

एक दिन पुत्र रत्न ने कह ही दिया आपकी बोली और लहजे पर मेरे मित्र हंसते है उसी दिन मैने तय किया कि बोलूंगा तो शुध्द हिन्दी ही बोलूँगा नहीं तो नहीं बोलूँगा । की प्रतिज्ञा । पुराने जमाने में लोग प्रतिज्ञा करते ही रहते थे उस समय जब हाथ उठा प्रतिज्ञा कर करते थे तब वादल गरजने लगते थे ,हवा की रफतार तेज हो जाती थी ,विजलियां कडकने लगती थी ,मगर ऐसा कुछ नहीं हुआ ।

एक दिन घर में मित्र मंडली जमी थी ,मैने पुत्र से जाकर कहा भैया मेरे व्दिचक्र बाहन के पृष्ठचंक्र से पवन प्रसारित होगया है शीघ्रतिशीध्र वायु प्रविष्ठ करवा ला ताकि मुझे कार्यालय प्रस्थान में अत्यधिक विलम्ब न हो। मै तो कह कमरे से चला आया किन्तु मैने सुनली- पुत्र का एक मित्र कह रहा था क्यों रे तेरे पापा का एकाध पेंच ढीला तो नहीं होगया ।

मेरे पडौस में एक बहिनजी रहती है ठेठ देहाती ,प्रायमरी स्कूल में बहिनजी की नौकरी लग गई तो परिवार यहां आगया। एक दिन बहिन जी के स्कूल की अध्यापिकाऐं उनके घर आई तो तो बहिन जी बोलने का लहजा, शब्द सब बदले , बोली बिल्कुल शहरी हो गई, बहिन जी के छोटे भाई बहिन भोचक्के होकर दीदी को देखने लगे । आखिर सबसे छोटी से न रहा गया तो बोल ही उठी काये री जीजी आज तोय का हो गओ आज तू कैसे बोल रई है

मजा तो अब है रोमन भी और शार्टकट भी
लिखा_ चाचा जी अजमेर गया है
पढा _ चाचाजी आज मर गया है

Tuesday, March 5, 2013

***भारत को कब तक इंडिया कहेंगे ?***



जो भारत को इंडिया कहते है वे मात्र लॉर्ड मैकाले के दिये वचनो का पालन कर रहे है इंडिया बोलने से पहले विचारे : क्या अर्थ है इंडिया का ? .. कुछ नहीं ... हर भारतीय के नाम का अर्थ है .... हमारे यहाँ बिना भावार्थ के नाम रखने की असांस्कृतिक परंपरा नहीं है।

अंग्रेज़ो को भारत नाम बोलने मे परेशानी होती थी -अंग्रेज़ 'इंडियन' उस व्यक्ति को कहते है जो उनके हिसाब से जाहिल माना जाता है, अंग्रेज़ इंडियन उस व्यक्ति को कहते थे जो पाषाण कालीन जीवन जीता है Remember the old British notorious signboard 'Dogs and Indians not allowed'. लेकिन हमारे भारत नाम का अर्थ है
भारत : भा = प्रकाश + रत = लीन ( हमेशा प्रकाश, ज्ञान मे लीन )
इतना महान अर्थ से परिपूर्ण देश का नाम है !

(लॉर्ड मैकाले जिसका पूरा नाम 'थॉमस बैबिंगटन मैकाले' था ! मैकाले 1834 ई. में गवर्नर-जनरल की एक्जीक्यूटिव कौंसिल का पहला क़ानून सदस्य नियुक्त होकर भारत आया।)

*******कैसे पड़ा भारत का नाम ? *********

इस देश का नाम प्रथम तीर्थंकर दार्शनिक राजा भगवान ऋषभदेव के पुत्र भरत के नाम पर भारतवर्ष पड़ा। महाभारत (आदि पर्व-2-96) का कहना है कि इस देश का नाम भारतवर्ष उस भरत के नाम पर पड़ा जो दुष्यन्त और शकुन्तला का पुत्र कुरूवंशी राजा था। पर इसके अतिरिक्त जिस भी पुराण में भारतवर्ष का विवरण है वहां इसे ऋषभ पुत्र भरत के नाम पर ही पड़ा बताया गया है।

जहाँ "भारत" अपने स्वाभिमान का प्रतीक है वहीँ "India" आज भी अंग्रेजों की गुलामी की निशानी | इसलिए मेरा मानना है कि हमें अपने देश को अपनी संस्कृति से जोड़कर देखना चाहिए क्यूंकि यह महान है |

यह दुखद है कि स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद यहाँ अनेक प्रांतों और शहरों के नाम तो बदले, किंतु देश का नाम यथावत विकृत बना हुआ है। समय आ गया है कि जिन लोगों ने ‘त्रिवेन्द्रम’ को तिरुअनंतपुरम्, ‘मद्रास’ को तमिलनाडु, ‘बोंबे’ को मुंबई, ‘कैलकटा’ को कोलकाता या ‘बैंगलोर’ को बंगलूरू, ‘उड़ीसा’ को ओडिसा तथा ‘वेस्ट बंगाल’ को पश्चिमबंग आदि पुनर्नामांकित करना जरूरी समझा – उन सब को मिल-जुल कर अब ‘इंडिया’ शब्द को विस्थापित कर भारतवर्ष कर देना चाहिए। क्योंकि यह वह शब्द है जो हमें पददलित करने और दास बनाने वाली संस्था ने हम पर थोपा था।

जय हिन्द, जय भारत !!
भारत हमको जान से प्यारा है.....!!
भा + रत = भारत
(संस्कृति का सन्देश, स्वाभिमान का प्रतीक)

भारत उस देश का नाम है, जो अपने में एक विशिष्ट आध्यात्मिक संस्कृति को संजोए हुए है।
भारत : भा= 'प्रकाश और ज्ञान' + रत= 'लीन'
अर्थात जो देश प्रकाश, ज्ञान और आनंद की साधना में संलग्न रहा है, उसी का नाम है भारत।

भारत विश्वगुरु रहा है उसी ने बहुत पहले यह उदघोष किया -

॥ असतो माँ सदगमय, तमसो माँ ज्योतिर्गमय, मृत्योर्मा अमृतं गमय ॥
अर्थात असत्य से सत्य की ओर, अंधकार से प्रकाश की ओर और मृत्यु से अमरत्व की ओर बढ़ना।

"अंग्रेजो ने भारत को इंडिया नाम दिया"
इस शब्द में वह शक्ति नहीं है, जो भारत के उपरोक्त गुणों को ध्वनित और व्यंजित कर सके, भारत के इंडिया शब्द का प्रयोग स्पष्ट करता है की भले ही अंग्रेजो की गुलामी से हम स्वतंत्र हो गए हैं, पर मानसिक दासता से अभी भी मुक्त नहीं हो सके हैं।

हमें इंडिया और अंग्रेजी, दोनों से ही अपने को मुक्त करना है तथा भारत, भारतीय संस्कृति और अपनी मातृभाषा से जुड़ना है, तभी हम सच्चे अर्थों में भारतीय कहलाने के अधिकारी होंगे।


# ::: इंडिया बनाम भारत ::: #

* इंडिया Competition पर चलता है और भारत Cooperation पर।
* इंडिया की theory है Survival of the Fittest और भारत की theory है Survival of all including the Weakest.
* इंडिया में ज्ञान डिग्री से मिलता है और भारत में ज्ञान सेवा से मिलता है।
* इंडिया में Nuclear Family चलती है और भारत में Joint Family.
* इंडिया में सिद्धांत है "स्व हिताय स्व सुखाय" और भारत में सिद्धांत है "बहुजन हिताय बहुजन सुखाय"।
* इंडिया में "I " "मैं" पर चलता है और भारत में "हम" पर चलता है।
* इंडिया मतलब इंडियन शहरों का समूह और भारत मतलब भारतीय गावों का समूह।
* इंडिया/इंडियन मतलब अंग्रेजी संस्कृति को बढ़ावा देना तथा भारत और भारतीय संस्कृति को भूलना।
* इंडिया/इंडियन मतलब विलासिता और शक्तिशाली लोग हैं जो भारत और भारतीयों पर राज करें।
* इंडियन सरकार ने भारतीय लोगों से जाति और धर्म क्यों पूछते हैं क्योंकि वे भारत/भारतीय लोगों पर शासन "फूट डालो और नियम" का पालन करते हैं।
* इंडियन मतलब साक्षर है और भारतीय मतलब शिक्षाविद् है।
* इंडियन अपने बच्चों के लिए सेक्स शिक्षा और भारतीय अपने बच्चों के लिए योग शिक्षा मांगते हैं।


भारत नाम हमारे देश में स्वीकार किया जाता है, विभिन्न सरकारी और सामाजिक क्षेत्रों, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्यूँ नहीं ?
जो निम्न उदाहरण से स्पष्ट है: -

1. हमारा राष्ट्रीय गान:
जन गण मन अधिनायक जय हे भारत भाग्य विधाता ( ना की इंडिया भाग्य विधाता)

2. हमारा राष्ट्रीय प्रतिज्ञा: पहली पंक्ति है...!!
"भारत मेरा देश है" (ना की इंडिया मेरा देश है)

3. सर्वोच्च नागरिक सम्मान, जो हमारे देश में दिया जाता है: "भारत रत्न" है (ना की 'इंडिया रत्न')

4. Indian penal code के लिए शब्द "भारतीय दंड संविधान" प्रयोग किया जाता है।

5. 'दूरदर्शन राष्ट्रीय नेटवर्क' पर दैनिक हिन्दी समाचार में हमेशा शब्द इंडिया के लिए भारत का उपयोग करता है। उदाहरणार्थ: 'इंडिया और इंग्लैंड" के बीच के क्रिकेट मैच को "भारत और इंग्लैंड" के बीच।

6. हम कहते हैं "भारत माता की जय" (ना की इंडिया माता की जय)


"Incredible India" का मतलब "अविश्वासी इंडिया" होता है, तभी क्रिकेट के मैदान पर लिखा होता है, जिसे हमारे महान खिलाडी अपने जूते भरे पैरो से रोंदते है और इंडिया की जनता ताली बजाकर खुश होती है और भारत की जनता रोती है ? क्या हम अपने माता पिता का नाम किसी खेल के मैदान या सड़क पर लिख सकते है ?

इंग्लिश सीखो, लिखो, बोलो लेकिन सोचो....

"आंसू टपक रहे हैं, भारत के हर बाग से,
शहीदों की रूहें लिपट के रोती हैं, हर खासो आम से,
अपनों ने बुना था हमें, भारत के नाम से,
फिर भी यहाँ जिंदा है हम, गैरों के दिए हुए नाम इंडिया से"

क्या सोच रहे है आप ? बचाइए स्वाभिमान का प्रतीक अपने देश का नाम "भारत"

"हमारे देश का नाम हिंदी में भारत है, इंग्लिश में भी 'BHARAT' ही होगा ना की INDIA."

अधिक से अधिक शेयर करो और "इंडिया छोड़ो भारत बोलो"....!! *


आर्यावर्त भरतखण्ड संस्कृति


क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511
                                            
                                    * * प्रेस - विज्ञप्ति * *
                                   इंटरनेट- सोशियल मीडिया ब्लॉग-प्रेस " 5th pillar corruption killer " की तरफ से सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में जो " योग्य एवं लोकप्रिय विधायक चुनाव हेतु सर्वे और मतदाता जगुरुकता अभियान चलाया जा रहा है,उसकी टीम के सदस्य आज सूरतगढ़ विधानसभा के ग्रामीण क्षेत्रों में गए ,गाँव मानकसर ,अमरपुरा,जानकीदास्वाला , सील्वानी,जैतसर                                    , हरिसिघवाला , लडाना और पिपेरण के निवासियों ने अभूतपूर्व स्वागत-सत्कार किया ! सबने " 5th pillar corruption killer टीम द्वारा कराये जा रहे इस सर्वे और मतदाता जागुरुक्ता अभियान को एक " पुन्य-कार्य " बताया ! कई लोगों ने तो ये भी कहा की ये काम तो सरकार को हर चुनाव से पहले करवाना चाहिए ! राजनितिक दलों को भी ऐसा सर्वे करवाकर ही प्रत्याशी निर्धारित करने चाहिएँ !! 
                         इससे पहले ये टीम  वशिष्ठ पोलेटेक्निक कोलेज , टेगोर शिक्षक प्रशिक्षक संस्थान पंहुची  । फिर  अंजना पब्लिक स्कूल गए    । वहाँ इस टीम के संयोजक पीताम्बर दत्त शर्मा ने इस अभियान की पूरी जानकारी ग्रामीणों को दी ! उन्होंने कहा कि          सरकार और राजनितिक दल  सर्वे कराते तो हैं किन्तु " गुप्त " तरीके से , वो जनता की पसंद का नहीं केवल अपनी पसंद का नेता तलाशते हैं !!
                               विद्यालयों में जाकर  विद्यार्थियों और शिक्षकों को भी इस अभियान के बारे में सम्पूरण जानकारी दी !! इस अभियान की आवश्यकता क्यों पड़ी ,तथा इसके क्या उद्देश्य हैं इस बारे में भी विस्तार से समझाया !!
                            इस से पहले ये अभियान हनुमान जी के खेजड़ी मंदिर, बाबा रामदेव जी के मेले में और महाराजा अग्रसेन I.T.I. कोलेज में भी चलाया गया !! सबने इसको एक महत्वपूर्ण आवश्यक कार्य बताया और टीम के सदस्यों की प्रशंसा भी की गयी विद्यालय और कोलेज प्रबंधकों द्वारा ! इस अभियान के पत्रक सूरतगढ़ के विभिन्न क्षेत्रों और मानकसर व डेयरी फ़ार्म में वितरित किये गए !!
                                   इस अवसर पर श्री अरविन्द कौल, श्री राजिंदर पटावरी, श्री विजय स्वामी,श्री तुलसीराम शर्मा,श्री परसराम भाटिया,डा हरप्रीत सिंह,श्री पी   के मिश्रा और श्री परसराम भाटिया जी भी पीताम्बर दत्त शर्मा के साथ थे !! " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " की पूरी टीम , इस अभियान को पहले नगर के हर वार्ड , फिर हर गाँव और फिर सूरतगढ़ विधानसभा के हर कसबे में चलाया, फैलाया और समझाया जायेगा , ताकि इस बार सूरतगढ़ की जनता को जो विधायक मिले वो लोकप्रिय व योग्य हो !! यही इस टीम की इच्छा   है  !!
                                 सभी पत्रकार मित्रों से अनुरोध है कि वो अपना सहयोग इस पवित्र मिशन को अवश्य प्रदान करें !! इसे प्रकाशित तो करें ही , साथ में अपनी विशेष और ज्ञानवर्धक टिप्पन्नी भी जोड़ें !! सधन्यवाद सहित आपकी सेवा में सादर प्रकाशनार्थ...... श्री मान………………………… जी !!!!
           क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

आखिर अंबेडकर को पीएम के तौर पर देखने की बात कभी किसी ने क्यों नहीं की ? -साभार :- श्री मान पुण्य प्रसुन्न वाजपेयी जी !

नेहरु की जगह सरदार पटेल पीएम होते तो देश के हालात कुछ और होते । ये सवाल नेहरु या कांग्रेस से नाराज हर नेता या राजनीतिक दल हमेशा उठाते रहे ...